Dvigu aur Karmdharaya samas me antar
द्विगु समास और कर्मधारय समास में अन्तर -
कर्मधारय समास में समस्त पद का एक पद विशेषण होता है तथा समस्त पद में विशेषण और विशेष्य का योग रहता है जबकि द्विगु समास में पहला पद संख्यावाचक विशेषण होता है

नीचे दिए गये उदाहरण से हम द्विगु समास और कर्मधारय समास के अन्तर को समझ सकते हैं

समस्त पदविग्रहसमास
नवग्रहनव हैं जो ग्रहकर्मधारय समास
नव ग्रहों का समूहद्विगु समास
त्रिभुवनतीन है जो भुवनकर्मधारय समास
तीन भुवनों का समूहद्विगु समास
पंचवटीपाँच है जो वटकर्मधारय समास
पाँच वटों का समूहद्विगु समास