Bihar Child Development Project Officer (BPSC) Syllabus 2017

Bihar Child Development Project Officer (BPSC) Syllabus PDF Download - Click Here
क्र. सं. परीक्षा विषय अंक परीक्षा की प्रकृति
1. प्रारम्भिक परीक्षा सामान्य ज्ञान- एक पत्र 150 (2:00 घंटे) वस्तुनिष्ठ
2. मुख्य परीक्षा अनिवार्य विषय
1. सामान्य हिंदी
2. सामान्य अध्यन पत्र-1
3. सामान्य अध्यन पत्र-2
वैकल्पिक विषय
1. गृह विज्ञान
2. मनोविज्ञान
3. समाजशास्त्र एवं
4. श्रम एवं समाज कल्याण
नोट - वैकल्पिक विषय में से किसी एक विषय का चयन

100 अंक (3:00 घंटे)
300 अंक (3:00 घंटे)
300 अंक (3:00 घंटे)


300 अंक (3:00 घंटे)
विषयनिष्ठ
3. साक्षात्कार 120 अंक
Bihar Child Development Project Officer (BPSC) Syllabus PDF Download - Click Here

(i) प्रारम्भिक परीक्षा में सामान्य विज्ञान, राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय महत्व की समसायिक घटनाएँ, भारत का इतिहास तथा बिहार के इतिहास की प्रमुख विशेषताएँ, सामान्य भूगोल, बिहार के प्रमुख भौगोलिक प्रभाग तथा यहाँ की महत्वपूर्ण नदियाँ, भारत की राज्य व्यवस्था और आर्थिक व्यवस्था, आजादी के पश्चात् विहार की अर्थव्यवस्था के प्रमुख परिवर्तन, भारत का राष्ट्रीय आन्दोलन तथा इसमें बिहार का योगदान एवं सामान्य मानसिक योग्यता को जांचने वाले प्रश्न |

(ii) कार्मिक एवं प्रसाशनिक सुधार विभाग, बिहार के संकल्प संख्या- 2374, दिनांक- 16.07.2007 एवं पत्रांक- 6706, दिनांक- 01.10.2008 के अनुसार प्रारम्भिक परीक्षा में शामिल सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों को 40%, पिछड़ा वर्ग के उम्मीदवारों को 36.5%, अत्यंत पिछड़ा वर्ग के उम्मीदवारों को 34% एवं अनुसूचित जाती/जनजाति, महिलाओं तथा नि:शक्त (विकलांग) उम्मीदवारों को 32% अहर्तांक प्राप्त करना अनिवार्य होगा |

(iii) प्रारम्भिक परीक्षा हेतु आवेदन करते समय ही मुख्य परीक्षा के लिए अपनी इच्छानुसार निम्नांकित वैकल्पिक विषयों में से एक विषय का चयन करना अनिवार्य होगा :-
(क) गृह विज्ञान (ख) मनोविज्ञान (ग) समाजशास्त्र (घ) श्रम एवं समाज कल्याण |
नोट :- एक बार वैकल्पिक विषय के चयन के बाद उसमे किसी प्रकार का बदलाव मान्य नही होगा |
वैकल्पिक विषयों का मानक लगभग वही होगा, जो घटना विश्विद्यालय के तीन वर्षीय आनर्स परीक्षा का है |
मुख्य परीक्षा हेतु अनिवार्य बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित किये जाने वाले सम्मिलित संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा के लिए निर्धारित विषय यथा सामान्य हिंदी एवं सामान्य अध्ययन होंगे |


(iv) प्रारम्भिक परीक्षा में सफल उम्मीदवारों से मुख्य प्रतियोगिता परीक्षा के लिए अलग से पुन: ससमय आवेदन आमंत्रित किये जायेंगे |

(v) प्रारम्भिक परीक्षा एवं मुख्या परीक्षा के आवेदनों में दी गई सूचनाओं में भिन्नता होने की स्थिति में आवेदक को मुख्य परीक्षा में सम्मिलित होने से वंचित किया जा सकता है |