1858 चार्टर एक्ट के द्वारा भारत के गवर्नर जनरल को भारत का वायसराय बना दिया गया । इस एक्ट के प्रमुख प्रावधान निम्नलिखित हैं-

1. भारत में कम्पनी शासन को समाप्त कर शासन को ब्रिटिश संसद के अधीन कर दिया गया।
2. अब भारत का शासन ब्रिटिश साम्राज्ञी की ओर से राज्य सचिव को चलाना था, जिसकी सहायता के लिए 15 सदस्यीय भारत परिषद का गठन किया गया। अब भारत के शासन से संबंधित सभी कानूनों एवं कार्यवाहियों पर भारत सचिव की स्वीकृति अनिवार्य कर दी गयी।
3. भारत के गवर्नर जनरल का नाम ‘वायसराय’ (क्राउन का प्रतिनिधि) कर दिया गया तथा उसे भारत सचिव की आज्ञा के अनुसार कार्य करने के लिए बाध्य किया गया।
4. भारत मंत्री को वायसराय से गुप्त पत्र व्यवहार तथा ब्रिटिश संसद में प्रतिवर्ष भारतीय बजट पेश करने का अधिकार दिया गया।
5. कम्पनी की सेवा को ब्रिटिश शासन के अधीन कर दिया गया। (6) इस प्रकार भारत का प्रथम वायसराय लॉर्ड कैनिंग बना।

भारत के गवर्नर जनरल
भारत के वायसरायों की सूची (1858-1947) | List of the viceroy of India in hindi (1858-1947)

1). लार्ड केनिंग (1858 -1862)
रानी विक्टोरिया की घोषणा और भारत सरकार अधिनियम 1858 की घोषणा
व्हाइट विद्रोह
भारतीय परिषद अधिनियम 1861
भारतीय दंड संहिता 1860
वहाबी आन्दोलन का दमन

2). लार्ड एल्गिन प्रथम (1862-1863)

3). लार्ड लारेंस (1863 - 1869)
भूटान युद्ध (1865)
कलकत्ता, बम्बई में उच्च न्यायालयों और 1865 में मद्रास की स्थापना

4). लार्ड मेयो (1869-1872)
1872 में अव्यवस्थित जनगणना
1872 में अजमेर में 'मेयो' कालेज की स्थापना

5). लार्ड नार्थब्रुक (1872-1876)

6). लार्ड लिटन (1876-1880)
1877 में महारानी 'विक्टोरिया' के स्वागत के लिए 'दिल्ली दरबार' नाम का भव्य समारोह दिल्ली में आयोजित किया गया
1878 में लिटन ने 'वर्नाक्यूलर' प्रेस एक्ट के द्वारा भारत के सभी समाचार पत्रों पर प्रतिबन्ध लगा दिया
1878 'भारतीय शस्त्र अधिनियम'

7). लार्ड रिपन (1880-1884)
1881 में व्यवस्थित जनगणना
1882 'वर्नाक्यूलर' प्रेस एक्ट समाप्त
1882 स्थानीय प्रशासन या स्वशासन आरम्भ
1882 प्राथमिक शिक्षा में सुधार के लिए 'हण्टर आयोग' का गठन
8). लार्ड डफरिन (1884-1888)
1885 मुंबई में 'कांग्रेस' की स्थापना
1885 में मुंबई में कांग्रेस का प्रथम अधिवेशन अध्यक्ष - व्योमेश चन्द्र बनर्जी
1886 कांग्रेस का द्वितीय अधिवेशन कलकत्ता, अध्यक्ष - दादा भाई नैरोजी
1887 कांग्रेस का तीसरा अधिवेशन मद्रास, अध्यक्ष - बदरूद्दीन तैयब जी (प्रथम मुस्लिम अध्यक्ष)
1888 कांग्रेस का चौथा अधिवेशन इलाहाबाद, अध्यक्ष - जार्ज यूले (प्रथम अंग्रेज अध्यक्ष)

9). लार्ड लैंसडाउन (1888-1894)
1893 में महाराष्ट्र में तिलक जी द्वारा 'गणपति' त्यौहार मनाने की घोषणा की गयी

10). लार्ड एल्गिन द्वितीय (1894-1898)
1895 में तिलक जी द्वारा महाराष्ट्र में 'शिव महोत्सव'मनाने की घोषणा
1896 कलकत्ता का कांग्रेस अधिवेशन (इसी अधिवेशन में बंकिम चन्द्र चटर्जी द्वारा स्वरचित गीत 'वन्देमातरम' को सर्वप्रथम गया गया था

11). लार्ड कर्जन (1898-1905)
1902 सर टॉमस रेले की अध्यक्षता में विश्वविद्यालय आयोग का गठन
1905 बंगाल विभाजन
16 अक्टूबर 1905 को रवीन्द्रनाथ टैगोर के आह्वान पर समूचे बंगाल में 'राखी' दिवस मनाया गया

12). लार्ड मिन्टो द्वितीय (1905-1910)
1906 ढाका में आगा खां तथा सलीम उल्ला खां द्वारा 'मुस्लीम लीग' की स्थापना
1909 मारले मिन्टो सुधार एक्ट

13). लार्ड हार्डिंग द्वितीय (1910-1916)
1911 कलकत्ता में कांग्रेस अधिवेशन (इसी अधिवेशन में रवीन्द्रनाथ टैगोर द्वारा रचित राष्ट्रगान 'जन-गण-मन' को सर्वप्रथम गाया था
1911 दिल्ली दरबार का आयोजन (इस आयोजन में निम्नलिखित घोषणाएं हुई)
• बंगाल विभाजन रद्द
• राजधानी कलकत्ता से दिल्ली स्थानांतरित की जाएगी
• बिहार और उड़ीसा को बंगाल से अलग किया जायेगा
1912 राजधानी कलकत्ता से दिल्ली स्थानांतरित
1912 बिहार को अलग राज्य का दर्जा प्राप्त
1913 रविन्द्रनाथ टैगोर को नोबेल पुरस्कार प्राप्त
1914 विश्व युद्ध आरम्भ
1915 गोपाल कृष्ण गोखले तथा फिरोज शाह मेहता की मृत्यु
1916 में प० मदन मोहन मालवीय के प्रयास से बनारस में हिन्दू विश्वविद्यालय की स्थापना

14). लार्ड चेम्सफोर्ड (1916-1921)
1916 कांग्रेस का लखनऊ अधिवेशन अध्यक्ष - अम्बिका चरण मजूमदार, नरम और गरम दल का मिलन
1916 पूना के बेलगाम में तिलक द्वारा होमरूल लीग आन्दोलन की स्थापना
दिसम्बर 1916 मद्रास में एनीबेसेंट द्वारा आल इंडिया होमरुल लीग आन्दोलन की स्थापना
1947 कांग्रेस का कलकत्ता अधिवेशन
1919 रौलेक्ट एक्ट
13 अप्रैल 1919 जलीयवाला बाग़ हत्याकांड

15). लार्ड रीडिंग (1921-1926)
5 फरवरी 1922 चौरी-चौरा कांड
1923 इलाहाबाद में मोतीलाल नेहरू और चितरंजन दास द्वारा स्वराज्य दल की स्थापना
1925 चितरंजन दास की मृत्यु
1925 काकोरी रेल डकैती

16). लार्ड इरविन (1926-1931)
साइमन कमीशन का भारत आगमन
1929 भगत सिंह अपने साथियों के साथ दिल्ली विधान सभा में बम फेंके
1929 कांग्रेस का लाहोर अधिवेशन अध्यक्ष - प० जवाहर लाल नेहरु
31 दिसम्बर 1929 को पंजाब के रावी नदी के किनारे आधी रात को प० जवाहर लाल नेहरु द्वारा तिरंगा लहराया गया
26 जनवरी 1930 को भारतियों द्वारा सर्वप्रथम स्वाधीनता दिवस मनाया गया
1930 सविनय अवज्ञा आन्दोलन
1930 दांडी मार्च
12 नवम्बर 1930 प्रथम गोलमेज सम्मेलन
5 मार्च 1931 गाँधी इरविन समझौता

17). लार्ड विलिंगटन (1931-1936)
7 सितम्बर 1931 द्वितीय गोलमेज सम्मेलन
16 अगस्त 1932 सांप्रदायिक निर्णय की घोषणा
26 सितम्बर 1932 पूना समझौता
17 नवम्बर 1932 तृतीय गोलमेज सम्मेलन
भारत शासन अधिनियम 1935

18). लार्ड लिनलिथगो (1936-1944)
1936 कांग्रेस का लखनऊ अधिवेशन अध्यक्ष - प० जवाहर लाल नेहरु
1937 कांग्रेस का बंगाल के फैजपुर का अधिवेशन  अध्यक्ष - प० जवाहर लाल नेहरु
1938 कांग्रेस का गुजरात के हरीपुरा का अधिवेशन अध्यक्ष -सुभास चन्द्र बोस
कांग्रेस मंत्रालयों का गठन
कांग्रेस के अध्यक्ष जहाज से सुभाष चंद्र बोस का इस्तीफा
फॉरवर्ड ब्लॉक का गठन
अगस्त प्रस्ताव को कांग्रेस द्वारा अपनी अस्वीकृति
मुस्लिम लीग द्वारा  उद्धार दिन (1939)
क्रिप्स मिशन
भारत छोड़ो आंदोलन

19). लार्ड बेवेल (1944-1947)
सी.राजगोपालाचारी द्वारा सी.आर.फार्मूला 
वावेल योजना और शिमला सम्मेलन
आईएनए परीक्षण
नौसेना विद्रोह (1946)
कैबिनेट मिशन (लॉरेंस, क्रिप्स और सिकंदर)
अंतरिम सरकार और सीधी कार्रवाई दिवस के शुभारंभ का गठन

20). लार्ड माउंटबेटन (1947-1948)
भारत का विभाजन

21). चक्रवर्ती राजगोपालाचारी (1948-1950)