क्षेत्र के प्राचीनतम ज्ञात जन जातिय निवासियों को दास कहा जाता था I बाद में आर्य आये और वे जनजातियों में रहने लगे I बाद की शताब्दियों में, पहाड़ी सरदारों ने मौर्य साम्राज्य, कुषाण, गुप्त और कन्नौज शासकों का अधिराज्तव स्वीकार किया I मुग़ल साम्राज्य के दौरान, पहाड़ी राज्यों के राजाओं ने परस्पर सहयोग से ऐसी व्यवस्था बनाई जिससे उनके संबंध प्रगाढ़ हुए I 19वीं शताब्दी में महाराजा रणजीत सिंह ने बहुत से राज्यों को अपने अधीन कर लिया I अंग्रेज जब भारत आये तो उन्होंने गोरखाओं को पराजित किया, बाद में कुछ राजाओं के साथ उन्होंने संधियाँ की और अन्य राज्यों पर अपना कब्ज़ा जमा लिया I 1947 ई तक स्थिति लगभग वैसी ही बनी रही I स्वतंत्रता के पश्चात क्षेत्र की 30 पहाड़ी रियासतों को एकजुट करके 15 अप्रैल 1948 को हिमाचल प्रदेश की स्थापना की गयी I 1 नवम्बर 1966 को पंजाब के अस्तित्व में आने पर कुछ अन्य सम्बंधित क्षेत्रों को हिमाचल में मिला लिया गया I 25 जनवरी 1971 को हिमाचल प्रदेश को पूर्ण राज्य का दर्जा प्राप्त हो गया I राज्य उत्तर में जम्मू-कश्मीर से, दक्षिण-पश्चिम में पंजाब से, दक्षिण में हरियाणा से, दक्षिण-पूर्व में उत्तराखंड से तथा पूर्व में तिब्बत(चीन) की सीमाओं से घिरा हैI


Himachal Pradesh General Knowledge

स्थापना दिवस: 25 जनवरी, 1971

क्षेत्रफल: 55,673 वर्ग किमी

अक्षांश: 30⁰ 22' 40" न से 33⁰ 12' 40" न

देशांतर: 75⁰ 45' 55" इ से 79⁰ 04' 20" इ

राजधानी: शिमला

राज्य की भाषा: हिंदी, पहाड़ी

कुल जिले: 12

कुल तहसील: 123

मण्डलों की संख्या: 4

उप-मण्डलों की संख्या: 62

पुलिस थानों की संख्या: 125

ब्लाकों की संख्या: 78

शहरी स्थानीय निकायों की संख्या: 49

ग्राम पंचायतों की संख्या: 3243

गांवों की संख्या: 20,690

कस्बों की संख्या: 59

औसत वर्षा 1469 मि.मी.

राजकीय पक्षी: जुजुराना

राजकीय पशु: बर्फानी तेंदुआ

राजकीय फूल: गुलाबी बुरुंश

साक्षरता दर: 82.80

पुरुष साक्षरता दर: 89.53

महिला साक्षरता दर: 73.51

लिंगानुपात (प्रति एक हजार): 972

जन्म दर (प्रति 1000): 22.1

मृत्यु दर (प्रति 1000): 7.2

राज्य का घनत्व: 123

विधानमंडल: एक सदनीय

लोकसभा सीट: 4

राज्यसभा सीट: 3

विधानसभा सीट: 68

क्षेत्रफल की दृष्टि से देश में स्थान: अट्ठारहवा

जनसंख्या की दृष्टि से देश में स्थान: इक्कीसवां

हिमाचल दिवस: 15 अप्रैल (15 अप्रैल 1948 को यह चीफ कमिश्नर प्रान्त बना)

राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री: यशवंत सिंह परमार

राज्य में राष्ट्रीय पार्क: दो

राज्य में वन्यजीव अभयारण्य: दो

कुल जनसंख्या: 68,64,602 (2011 जनगणना)

पुरुष जनसंख्या: 34,81,873 (2011 जनगणना)

महिला जनसंख्या: 33,82,729 (2011 जनगणना)

जनसंख्या वृद्धि दर: 12.94%

चीन की सीमा से लगने वाले जिले: लाहौल और स्पीति, किन्नौर

सबसे बड़ा नगर: शिमला

राज्य का प्रथम चीफ कमिश्नर: एन. सी. मेहता

राज्य का प्रथम राज्यपाल: एस. चक्रवर्ती

राज्य का प्रथम उप-राज्यपाल: एम्. एस. हिम्मत सिंह

राज्य का प्रथम न्यायिक कमिश्नर: जे. एन. बनर्जी

क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़ा जिला: लाहौल और स्पीति

क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे छोटा जिला: हमीरपुर

जनसंख्या की दृष्टि से सबसे बड़ा जिला: कांगड़ा

जनसंख्या की दृष्टि से सबसे छोटा जिला: लाहौल और स्फीति

पूर्ण साक्षर जिला: हमीरपुर

सबसे कम साक्षर जिला: चंबा

सर्वाधिक औधोगिक जिला: सोलन

सर्वाधिक पंचायत वाला जिला: कांगड़ा

सबसे अधिक अनुसूचित जनजाति वाला जिला: चंबा

सबसे कम शहरी आबादी वाला जिला: किन्नौर, लाहौल, स्फीति

सबसे कम पंचायत वाला जिला: लाहौल और स्फीति

कांगड़ा किले को लूटने वाला पहला व्यक्ति: महमूद गजनवी

राज्य के प्रमुख धर्म: हिन्दू, बौद्ध और सिख

राज्य में दलाई लामा की शरण स्थली: धर्मशाला

राज्य की सबसे ऊंची पर्वत श्रेणी: रियो पुर्गील

राज्य की सबसे लम्बी नदी: सतलुज

राज्य की सबसे बड़ी नदी: चिनाब

शिमला आने वाला पहला अंग्रेज: सर डेविड ऑचटरलोने

एशिया का सबसे ऊंचा पुल: कन्द्रोर (बिलासपुर)

राज्य की सबसे छोटी नदी: यमुना

राज्य का सबसे अधिक वर्षा वाला स्थान: धर्मशाला

राज्य का सबसे कम वर्षा वाला स्थान: स्फीति

सबसे बड़ी मानव निर्मित झील: रेणुका

सबसे छोटी मानव निर्मित झील: पंडोह

सबसे बड़ी प्राकृतिक झील: गोविन्द सागर

राज्य का प्रथम आकाशवाणी केंद्र: शिमला

राज्य का प्रमुख व्यवसाय: कृषि

कृषि में संलग्न कामकाजी आबादी: 69%

कृषि ओर सम्बंधित क्षेत्र का जीडीपी में योगदान: 22.1%

राज्य में कृषि योग्य भूमि: 10.4%

बागबानी के अंतर्गत आने वाले प्रमुख फल: सेब, नाशपाती, आडू, बेर, खुमानी, गुठली वाले फल, नींबू प्रजाति के फल, आम, लीची, अमरूद, और झरबेरी आदि

स्थायी रूप से बर्फ से ठका क्षेत्रफल: 16,376 वर्ग किलोमीटर

मुख्य नदियाँ: चसतलुज, व्यास, रावी, पार्वती

मुख्य झीलें: रेणुका, रिवालसर, खाजिआर, डल, व्यास कुंड, भृगु पराशर, मणिमहेश, चंद्रताल, सुरजताल, सिरलोसर गोविन्दसागर, नाको

राज्य की जीडीपी में उद्योग का योगदान: 17%

राज्य की जीडीपी में पर्यटन का योगदान: 10%

समग्र विकास निष्पादन की दृष्टि से राज्य का स्थान: तीसरा सर्वश्रेष्ठ

प्राथमिक शिक्षा और अध्यापक-विद्यार्थी अनुपात में स्थान: प्रथम

पुरातन महलों में चित्रों की खोज करने वाला प्रथम व्यक्ति: मैटकाफ

प्राचीन धरोहर वाले स्थान: गुलेर, सुजानपुर, टीहरा तथा कांगड़ा

पौंग बाँध परियोजना: कांगड़ा जिले में व्यास नदी पर बना 435 फुट ऊंचा बाँध है| यह देश का सबसे ऊंचा रॉक-फिल डैम है|

भाखड़ा बाँध परियोजना: एशिया का सबसे ऊंचे बाँध के रूप में विख्यात है, इसकी ऊंचाई 226 मी. है

गोविन्द सागर झील किस बाँध के कारण बनी है: भाखड़ा बांध

हिमाचल पनबिजली बेचता है: दिल्ली, पंजाब और राजस्थान को

राज्य के अर्थव्यवस्था के कारक: पनबिजली, पर्यटन और कृषि

ट्रांसपरेंसी इंटरनेशनल के 2005 के सर्वेक्षण के अनुसार, हिमाचल प्रदेश देश में केरल के बाद दूसरा सबसे कम भ्रष्ट राज्य|