औद्योगिक क्रांति के प्रमुख आविष्कार

औद्योगिक क्रांति - उत्पादन के साधनो में परिवर्तन होने को ही औद्योगिक क्रांति कहा जाता है।
1. फ्लाइंग शटल - एक अंग्रेज आविष्कारक 'जॉन के' ने सन् 1723 ई० में फ्लाइंग शटल नामक मशीन का अविष्कार किया। इस मशीन के द्वारा एक व्यक्ति कम समय में अधिक कपड़ा बुन सकता था।

2. स्पिनिंग जैनी - जेम्स हरग्रीब्ज वैज्ञानिक ने सन् 1765-66 ई० में सूत कातने वाली 'स्पिनिंग जैनी' नामक मशीन बनाई। इस मशीन के द्वारा एक व्यक्ति आठ व्यक्तियों के बराबर सूत कातने में सक्षम था।

3. वाटर फ्रेम (1768) - रिचर्ड आर्क राइट आविष्कारक ने 'वाटर फ्रेम' नामक मशीन का अविष्कार किया। इस के जरिये पक्के सूत काते जाने लगे। यह मशीन पानी की शक्ति से चलती थी इस कारण इसे 'वाटर फ्रेम' के नाम से जाना जता था।

4. म्यूल (1799) - सन् 1799 ई० में 'क्रॉम्पटन' नामक व्यक्ति ने म्यूल मशीन बनाई जो पक्के और बारीक धागा बनाने में सक्षम था। 

5. पावर लूम (1785) - एडमण्ड कार्ट राईट नामक आविष्कारक ने 1785 ई० में भाप से चलने वाली पावरलूम नामक मशीन का अविष्कार किया। पावरलूम औद्योगिक क्रांति का महत्वपूर्ण आविष्कार था।

6. रेल इंजन (1814) - सन् 1814 ई० में जार्ज स्टीफेंसन ने रेल इंजन का निर्माण किया।

7. भाप-शक्ति - जेम्स वाट ने भाप-शक्ति का अविष्कार किया। 

8. जिन (1792) - सन् 1792 ई० में एली ह्विटने ने 'जिन' नामक मशीन का अविष्कार किया। इस मशीन के जरिये कपास की सफाई में तेजी आ गई।

9. स्टीमर (1812) - सन् 1812 ई० में हेनरी बेल नामक अविष्कारक ने एक स्टीमर बनाई।

10. सिलाई मशीन 1846 - एलिहास हो ने 1846 ई० में सिलाई मशीन का अविष्कार किया।